User Overview

Followers and Following

Followers
Following
Trendsmap

History

Total Followers - Last Year
Daily Follower Change - Last Year
Daily Tweets - Last Year

Tweet Stats

Analysed 16,553 tweets, tweets from the last 231 weeks.
Tweets Day of Week (UTC)
Tweets Hour of Day (UTC)
Key:
Tweets
Retweets
Quotes
Replies
Tweets Day and Hour Heatmap (UTC)

Tweets

Last 50 tweets from @kavishala
always be
kinder than
you feel
 
India’s first CDS and former Chief of Army Staff, Late General Bipin Rawat, will be honoured with Padma Vibhushan this year for his undying service to the Nation. #PadmaVibhushan

[है नमन उनको कि जो देह को अमरत्व देकर - कुमार विश्वास] @DrKumarVishwas
kavishala.in/@kavishala/poe…
- ...
kavishala.in
 
Happy Republic Day! 🇮🇳

[Explore Now: app.kavishala.in]
 
Kavishala Retweeted ·  
कैसे बना तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज?

#HappyRepublicDay
kavishala.in/@kavishala-lab…
?...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
एक कविता 'देश' के लिए:
 
कैसे बना तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज?

#HappyRepublicDay
kavishala.in/@kavishala-lab…
?...
kavishala.in
 
एक कविता 'देश' के लिए:
 
Kavishala Retweeted ·  
कितनी झूठी होती हैं मोहब्बत की कसमे!
देखो तुम भी जिन्दा हो... मैं भी जिन्दा हूँ!!

[app.kavishala.in]
 
 
कितनी झूठी होती हैं मोहब्बत की कसमे!
देखो तुम भी जिन्दा हो... मैं भी जिन्दा हूँ!!

[app.kavishala.in]
 
 
Kavishala Retweeted ·  
"मेरी समझ में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ वस्तु है घुमक्कड़ी।"

#NationalTourismDay

kavishala.in/sootradhar/rah…
Rahul Sankrityayan | Kavishala Sootradhar...
kavishala.in
 
Tag Some Good 'Young' Poets 🔽
 
#KavishalaAwards2021 [Public Choice]

Nominate and Vote: app.kavishala.in
(Last Date: January 31, 2022)

 
सैर कर दुनिया की ग़ाफ़िल ज़िंदगानी फिर कहाँ
ज़िंदगी गर कुछ रही तो ये जवानी फिर कहाँ

#NationalTourismDay
 
अच्छी कलम मूल्यों पर लिखती है, अच्छी कलम का कोई मूल्य नही होता!

- कृष्णा सोबती
 
हमने हमेशा कहा है कि
गीत हमें पसंद है और
चिड़ियों का राग
हमारी प्राण-शक्ति है
लेकिन तुम हमेशा
चिड़ीमार बनकर आए और
हमारे घोंसलों को जला डाला।

- अनुज लुगुन

kavishala.in/sootradhar/anu…
Anuj Lugun | Kavishala Sootradhar...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
आपके लिए 'कविता' क्या है?
 
Kavishala Retweeted ·  
Tell us you’re a Poet without telling us you’re Poet
 
Kavishala Retweeted ·  
How many books you've in your bookshelf?
 
आपके लिए 'कविता' क्या है?
 
वो शाख़ है न फूल, अगर तितलियाँ न हों
वो घर भी कोई घर है जहाँ बच्चियाँ न हों

- बशीर बद्र

#NationalGirlChildDay
 
 
One Word Poetry for 'Elections':
 
How much 'Kavishala Coins' You Have in Your 'Kavishala Wallet'?

[app.kavishala.in]
 
How many books you've in your bookshelf?
 
वक़्त की यही है दरकार अदब से चलिये
छिन भी सकता है ये दरबार अदब से चलिये

हम है आवाम न यूँ हमको सताओ साहिब
गिर भी सकती है ये सरकार अदब से चलिये

- अस्तित्व 'अंकुर'
 
Kavishala Retweeted ·  
'सुभाष चंद्र बोस सर्वोच्च प्रशासनिक सेवा को छोड़कर देश को आजाद कराने की मुहिम का हिस्सा बन गए थे जिसके बाद ब्रिटिश सरकार ने उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज किए. जिसका नतीजा ये हुआ कि उन्हें अपने जीवन में 11 बार जेल जाना पड़ा...'

#SubhashChandraBose
kavishala.in/@kavishala-lab… @anujdhar
, ...
kavishala.in
 
Life loses half its interest
if there is no struggle —
if there are no risks to be taken.

#SubhashChandraBose

kavishala.in/sootradhar/sub…
Subhas Chandra Bose | Kavishala Sootradhar...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
शाख़ों से टूट जाएँ वो पत्ते नहीं हैं हम
आँधी से कोई कह दे कि औक़ात में रहे

- राहत इंदौरी

Youtube: youtube.com/Kavishala?sub_… #YouTube
 
Kavishala Retweeted ·  
How much 'Kavishala Coins' You Have in Your 'Kavishala Wallet'?

[app.kavishala.in]
 
Kavishala Retweeted ·  
पूरा पढ़ने के लिए नीचे दिए @kavishala लिंक को चटकाएं।

kavishala.in/@abhinav-singh…
...
kavishala.in
 
Tell us you’re a Poet without telling us you’re Poet
 
Kavishala Retweeted ·  
खामोशी से बनाते रहो पहचान अपनी
हवाएँ ख़ुद गुनगुनाएगी नाम तुम्हारा
 
 
ग़लत से ग़लत वक़्त में भी, सही से सही बात कही जा सकती है।

- कुंवर नारायण
 
शाख़ों से टूट जाएँ वो पत्ते नहीं हैं हम
आँधी से कोई कह दे कि औक़ात में रहे

- राहत इंदौरी

Youtube: youtube.com/Kavishala?sub_… #YouTube
 
Kavishala Retweeted ·  
इंसान होते हैं अल्हड़, नादान और असहज
रिश्ते रिश्ते होते, इंसान होते इंसान महज़
समझाना पड़ता है रिश्तों के अर्थ
इंसान समझे तो सार्थक नहीं तो व्यर्थ

kavishala.in/@vikas-bansal/… @VikasbansalEF @SrBachchan
| ...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
रात आधी हो गई है!

जागता मैं आँख फाड़े,
हाय, सुधियों के सहारे,
जब कि दुनिया स्‍वप्‍न के जादू-भवन में खो गई है!
रात आधी हो गई है!

- हरिवंशराय बच्चन

kavishala.in/sootradhar/har… @SrBachchan
Harivansh Rai Bachchan | Kavishala Sootradhar...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
ख़त की मौत से अफ़सोस हुआ,
मोहल्ले में भी कुछ अल्फाजों के आशिकों ने,
आँसू बहाएं।

kavishala.in/@ram-kamal/kha… @Ramkamal
...
kavishala.in
 
गाँव में पक्का मकान बनाना था,
सो कच्ची उम्र में घर छोड़ना पड़ा!

- भास्कर कविश
 
Kavishala Retweeted ·  
हिंदी कविता के दस सूत्रधार | कविशाला

@Kavishala_Hindi
kavishala.in/@kavishala-lab…
| ...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
लाड करण लगी मात, पूत की कौळी भरकै
हुई आजादा शोक और भय से, गात म्हं खुशी हो गई ऐसे
जैसे, धन निधरन के लग्या हाथ, खुश हुए न्यौळी भरकै
आज वे परसन्न होगे हरि, आत्मा ठण्डी हुई मेरी
कद तेरी, चढ़ती देखूंगी बारात, बहू आवै रोळी भरकै

- दयाचंद मायना
kavishala.in/@kavishala-lab…
...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
#KavishalaAwards

Vote/ Nominate Your Favourite Author/ Books: app.kavishala.in 👇👇👇

 
 
Kavishala Retweeted ·  
रात वाला आपका शेर:
 
2022, Suggest One Book:
 
#KavishalaAwards

Vote/ Nominate Your Favourite Author/ Books: app.kavishala.in 👇👇👇

 
लाड करण लगी मात, पूत की कौळी भरकै
हुई आजादा शोक और भय से, गात म्हं खुशी हो गई ऐसे
जैसे, धन निधरन के लग्या हाथ, खुश हुए न्यौळी भरकै
आज वे परसन्न होगे हरि, आत्मा ठण्डी हुई मेरी
कद तेरी, चढ़ती देखूंगी बारात, बहू आवै रोळी भरकै

- दयाचंद मायना
kavishala.in/@kavishala-lab…
...
kavishala.in
 
Kavishala Retweeted ·  
एक तू ही भरोसा, एक तू ही सहारा
इस तेरे जहां मे नहीं कोई हमारा

#LataMangeshkar
 
 
Free access is provided to the 8 hour timeframe for this page.

A Trendsmap Explore subscription provides full access to all available timeframes

Find out more

This account is already logged in to Trendsmap.
Your subscription allows access for one user. If you require access for more users, you can create additional subscriptions.
Please Contact us if you are interested in discussing discounts for 3+ users for your organisation, or have any other queries.