User Overview

Followers and Following

Followers
Following
Trendsmap

History

Total Followers - Last Year
Daily Follower Change - Last Year
Daily Tweets - Last Year

Tweet Stats

Analysed 25,840 tweets, tweets from the last 69 weeks.
Tweets Day of Week (UTC)
Tweets Hour of Day (UTC)
Key:
Tweets
Retweets
Quotes
Replies
Tweets Day and Hour Heatmap (UTC)

Tweets

Last 50 tweets from @KotwalMeena
बाबा साहब भीमराव आंबेडकर परिनिर्वाण दिवस...

देश भर में विविध कार्यक्रम हुए आयोजित, बाबा साहब को किया याद.
 
"I measure the progress of a community by the degree of progress which women have achieved."

- Dr. Baba Saheb Bhimrao Ambedkar

(April,14,1891-Dec,6,1956)
 
In reply to @KotwalMeena
आपके लिए पत्रकारिता है सिर्फ स्टोरी करना लेकिन हमारी जिम्मेवारी है हाशिए पर खड़े लोगों की पीड़ा दिखाना, वे कहानियां लाना जिन्हें आप जानबुझकर छोड़ देते हैं, जिस पर चर्चा नहीं करते क्योंकि शायद आपके लिए वे अछूत हैं! 12/12
Replying to @KotwalMeena
आप जितना चाहे मुझे आगे बढ़ने से रोक लें, लेकिन मैं अब एक स्प्रिंग का रूप ले चुकी हूं, आप जितना दबाएंगे उतना तेज और दूर तक उछलूंगी. रोक सको तो रोक लो! #ThanksDrAmbedkar #BabaSahebAmbedkar
 
In reply to @KotwalMeena
मुझे खारिज करने की, मजाक उड़ाने की मुहिम चलाने की कोशिश कर रहे हैं. कभी 'विष कन्या' तो कभी 'विधवा विलाप' करने वाली तक कहा गया, लेकिन मैं उन तमाम जातिवादी-पुरुषवादी लोगों को बता देना चाहती हूं कि हमारा पूरा जीवन ही संघर्ष की दास्तां है, बिना लड़े हमें कुछ नहीं मिलने वाला! 11/11
Replying to @KotwalMeena
आपके लिए पत्रकारिता है सिर्फ स्टोरी करना लेकिन हमारी जिम्मेवारी है हाशिए पर खड़े लोगों की पीड़ा दिखाना, वे कहानियां लाना जिन्हें आप जानबुझकर छोड़ देते हैं, जिस पर चर्चा नहीं करते क्योंकि शायद आपके लिए वे अछूत हैं! 12/12
 
In reply to @KotwalMeena
डिसीजन मेकिंग में वंचित/शोषित नहीं है, लेकिन इस भयावह स्थिति से उन्हें कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि शायद वे जातिवादी-पुरुषवादी मीडिया के गठजोड़ को बनाए रखना चाहते हैं ताकि उनके प्रीविलेज का नुकसान न हो! ये सवाल उनका नकाब उतार रहे हैं इसलिए बदनाम करने की साजिश रचते रहते हैं. 10/10
Replying to @KotwalMeena
मुझे खारिज करने की, मजाक उड़ाने की मुहिम चलाने की कोशिश कर रहे हैं. कभी 'विष कन्या' तो कभी 'विधवा विलाप' करने वाली तक कहा गया, लेकिन मैं उन तमाम जातिवादी-पुरुषवादी लोगों को बता देना चाहती हूं कि हमारा पूरा जीवन ही संघर्ष की दास्तां है, बिना लड़े हमें कुछ नहीं मिलने वाला! 11/11
 
In reply to @KotwalMeena
इस हमाम में जो नंगे हैं उनके सामने आईना रख दिया है! मैं लगातार उनसे सवाल पूछ रही हूं कि संसाधनों पर एक ही तरह के लोग क्यों काबिज हैं? हमारा प्रतिनिधित्व क्यों गायब कर दिया गया है? तमाम रिसर्च इसकी तस्दीक करते हैं कि भारतीय मीडिया में अमूमन दलित-आदिवासियों की एंट्री बैन है, 9/9
Replying to @KotwalMeena
डिसीजन मेकिंग में वंचित/शोषित नहीं है, लेकिन इस भयावह स्थिति से उन्हें कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि शायद वे जातिवादी-पुरुषवादी मीडिया के गठजोड़ को बनाए रखना चाहते हैं ताकि उनके प्रीविलेज का नुकसान न हो! ये सवाल उनका नकाब उतार रहे हैं इसलिए बदनाम करने की साजिश रचते रहते हैं. 10/10
 
In reply to @KotwalMeena
मैं यह क्यों बता रही हूं कि भारतीय मीडिया में दलित-आदिवासियों की एंट्री बैन है? मेरे इन सवालों से उन्हें घबराहट हो रही है, वे अपने झूठे आडंबर को टूटता हुआ पा रहे हैं. वे घबरा गए हैं क्योंकि मैंने सदियों की हकमारी पर उनसे सवाल पूछ लिया है. 8/8
Replying to @KotwalMeena
इस हमाम में जो नंगे हैं उनके सामने आईना रख दिया है! मैं लगातार उनसे सवाल पूछ रही हूं कि संसाधनों पर एक ही तरह के लोग क्यों काबिज हैं? हमारा प्रतिनिधित्व क्यों गायब कर दिया गया है? तमाम रिसर्च इसकी तस्दीक करते हैं कि भारतीय मीडिया में अमूमन दलित-आदिवासियों की एंट्री बैन है, 9/9
 
In reply to @KotwalMeena
आज भी वे मुझे खारिज करने की पूरी कोशिश करना चाहते हैं. बदनाम करने के तमाम हथकंडे अपनाए जाते हैं. मेरा कसूर बस यह है कि जिस मुद्दे पर यह समाज/देश सदियों से चुप है, उसपर मैं क्यों लिखती-बोलती हूं? मैं क्यों यह बता रही हूं कि भारतीय मीडिया जातिवादी, सवर्णवादी और पुरुषवादी है? 7/7
Replying to @KotwalMeena
मैं यह क्यों बता रही हूं कि भारतीय मीडिया में दलित-आदिवासियों की एंट्री बैन है? मेरे इन सवालों से उन्हें घबराहट हो रही है, वे अपने झूठे आडंबर को टूटता हुआ पा रहे हैं. वे घबरा गए हैं क्योंकि मैंने सदियों की हकमारी पर उनसे सवाल पूछ लिया है. 8/8
 
In reply to @KotwalMeena
जो सदियों से होता आ रहा है वही वे मेरे साथ कर रहे थे, एक दलित-महिला को ही सो कॉल्ड पढ़े लिखे सभ्य समाज के स्वकथित प्रगतिशील लोग गुनहगार साबित कर रहे थे! वे बार-बार यह लिखते और बोलते हैं कि मुझे कुछ नहीं आता है. मुझसे इतनी नफरत कि मेरे व्यक्तिगत जीवन पर कीचड़ उछाला जाता है. 6/6
Replying to @KotwalMeena
आज भी वे मुझे खारिज करने की पूरी कोशिश करना चाहते हैं. बदनाम करने के तमाम हथकंडे अपनाए जाते हैं. मेरा कसूर बस यह है कि जिस मुद्दे पर यह समाज/देश सदियों से चुप है, उसपर मैं क्यों लिखती-बोलती हूं? मैं क्यों यह बता रही हूं कि भारतीय मीडिया जातिवादी, सवर्णवादी और पुरुषवादी है? 7/7
 
In reply to @KotwalMeena
मीडिया में खबरें प्रकाशित करवाई जाती हैं कि मुझे कुछ नहीं आता है. मुझे खारिज करने की पूरी मुहिम चलाई जाती है और सो कॉल्ड बड़े-बड़े पत्रकार मेरे खिलाफ पोस्ट लिखते हैं, मुझे ही गलत साबित करने के लिए पूरी ताकत लगा देते हैं. मेरे लिए बिल्कुल भी यह नया नहीं था, 5/5
Replying to @KotwalMeena
जो सदियों से होता आ रहा है वही वे मेरे साथ कर रहे थे, एक दलित-महिला को ही सो कॉल्ड पढ़े लिखे सभ्य समाज के स्वकथित प्रगतिशील लोग गुनहगार साबित कर रहे थे! वे बार-बार यह लिखते और बोलते हैं कि मुझे कुछ नहीं आता है. मुझसे इतनी नफरत कि मेरे व्यक्तिगत जीवन पर कीचड़ उछाला जाता है. 6/6
 
In reply to @KotwalMeena
उसका गुनाह इतना है कि वो जातिवादी-पित्तृसत्तात्मक संस्कृति में खुद को एडजस्ट नहीं कर पाती है, जी हजूरी नहीं कर पाती है और सबसे बड़ा गुनाह कि वो एक दलित महिला है जो आसमान में उड़ने के सपने देख बैठी है! इतना ही नहीं मेरे निकाले जाने के बाद जातिवादी, सवर्णवादी और पुरुषवादी 4/4
Replying to @KotwalMeena
मीडिया में खबरें प्रकाशित करवाई जाती हैं कि मुझे कुछ नहीं आता है. मुझे खारिज करने की पूरी मुहिम चलाई जाती है और सो कॉल्ड बड़े-बड़े पत्रकार मेरे खिलाफ पोस्ट लिखते हैं, मुझे ही गलत साबित करने के लिए पूरी ताकत लगा देते हैं. मेरे लिए बिल्कुल भी यह नया नहीं था, 5/5
 
In reply to @KotwalMeena
संपत्ति नहीं और तुम तो चाटुकारिता भी नहीं कर पाती हो, तुम कैसे आ गई यहां...निकलो! यहां सात शब्दों में मेरिट तय कर दी जाती है- सरनेम, मौका, सोशल कैपिटल, कनेक्शन, चापलूसी, पैरवी, नेटवर्किंग... और इस तरह से इकलौती दलित पत्रकार को BBC हिंदी निकाल देता है, 3/3
Replying to @KotwalMeena
उसका गुनाह इतना है कि वो जातिवादी-पित्तृसत्तात्मक संस्कृति में खुद को एडजस्ट नहीं कर पाती है, जी हजूरी नहीं कर पाती है और सबसे बड़ा गुनाह कि वो एक दलित महिला है जो आसमान में उड़ने के सपने देख बैठी है! इतना ही नहीं मेरे निकाले जाने के बाद जातिवादी, सवर्णवादी और पुरुषवादी 4/4
 
In reply to @KotwalMeena
उसे नकारा साबित करने की कोशिश की जाती है, सरेआम जलील किया जाता है, नीचा दिखाया जाता है, महसूस करवाया जाता है कि गलत जगह आ गए हो, तुम्हारी यह जगह नहीं है, तुम हमारे साथ काम नहीं कर सकती, पढ़ने-लिखने और अवॉर्ड पाने का अधिकार सिर्फ हमें है, तुम्हारे पास कोई सामाजिक/सांस्कृतिक 2/2
Replying to @KotwalMeena
संपत्ति नहीं और तुम तो चाटुकारिता भी नहीं कर पाती हो, तुम कैसे आ गई यहां...निकलो! यहां सात शब्दों में मेरिट तय कर दी जाती है- सरनेम, मौका, सोशल कैपिटल, कनेक्शन, चापलूसी, पैरवी, नेटवर्किंग... और इस तरह से इकलौती दलित पत्रकार को BBC हिंदी निकाल देता है, 3/3
 
बाबा साहेब ना होते तो शायद हम भी ना होते!

इस देश/समाज में अमूमन हम जैसों का गुनाह जन्म के साथ ही लिखा जा चुका होता है! इस सो कॉल्ड सभ्य समाज में दलित महिला जब आगे बढ़ती है तो पूरा समाज और सिस्टम उसको रोकने के लिए अपनी ताकत लगाता है! दलित मजदूर की बेटी जब BBC पहुंचती है तो 1/1 pic.twitter.com/L0yWbnGeo6
Replying to @KotwalMeena
उसे नकारा साबित करने की कोशिश की जाती है, सरेआम जलील किया जाता है, नीचा दिखाया जाता है, महसूस करवाया जाता है कि गलत जगह आ गए हो, तुम्हारी यह जगह नहीं है, तुम हमारे साथ काम नहीं कर सकती, पढ़ने-लिखने और अवॉर्ड पाने का अधिकार सिर्फ हमें है, तुम्हारे पास कोई सामाजिक/सांस्कृतिक 2/2
 
बाबा साहेब ना होते तो शायद हम भी ना होते!

इस देश/समाज में अमूमन हम जैसों का गुनाह जन्म के साथ ही लिखा जा चुका होता है! इस सो कॉल्ड सभ्य समाज में दलित महिला जब आगे बढ़ती है तो पूरा समाज और सिस्टम उसको रोकने के लिए अपनी ताकत लगाता है! दलित मजदूर की बेटी जब BBC पहुंचती है तो 1/1
 
भारतीय मीडिया आदिवासियों, दलितों और पिछड़ों को क्यों समझती है मेरिटलेस: मीना कोटवाल
@KotwalMeena @The_Mooknayak

madeinmedia.in/why-indian-med…
 
In reply to @LiveLawIndia
Judge mocking a litigant for availing reservation in services must resign. He has also insulted litigant in open court due to his caste or social background. This is nothing less than a misbehaviour contemplated under Article 217 r/w 124 of constitution for removal of a Judge.
 
"You Got Job Through Reservation?" : Patna HC Judge Kicks Up Row With Mocking Comments livelaw.in/news-updates/y…
 
#जयभीम संविधान को रचने वाले बाबा साहेब के परिनिर्वाण दिवस पर हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है संविधान पर मंडरा रहे खतरे। दुख को शक्ति में बदलते हुए हम सीवर-सेप्टिक टैंक में हत्याओं के खात्मे के अभियान जारी #StopKillingUs #Action2022 एर्नाकुलम, केरल
 
Today, In Drass region of Kargil, we began our workshop by remembering and paying homage to #DrAmbedkar on his Mahaparinirvan Din.

He's a global icon for education, and an emblem of social justice. We hope to inspire his message among students all over. pic.twitter.com/1F17JBmufM
 
Today, In Drass region of Kargil, we began our workshop by remembering and paying homage to #DrAmbedkar on his Mahaparinirvan Din.

He's a global icon for education, and an emblem of social justice. We hope to inspire his message among students all over.
 
इसपर अपनी राय जरूर दें! 👇

@ChetanAhimsa @BCCI @JayShah
 
रूपेश कुमार सिंह ने झारखंड के गिरिडीह जिले में हो रहे डेवलमेंट के काम के कारण पर्यावरण को जो नुकसान हो रहा है, उस पर खबर लिखी थी उसके बाद ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया!

Video : @poonam_mn
 
आगरा. दलित एमबीबीएस स्टूडेंट ने की आत्महत्या, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल सहित पांच जनों पर प्रताड़ित करने का आरोप, मामला दर्ज
 
रूपेश कुमार सिंह ने झारखंड के गिरिडीह जिले में हो रहे डेवलमेंट के काम के कारण पर्यावरण को जो नुकसान हो रहा है उस पर खबर लिखी थी उसके बाद ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

Video : @poonam_mn
 
आगरा: दलित MBBS स्टूडेंट ने की आत्महत्या, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल सहित पांच जनों पर प्रताड़ित करने का आरोप, मामला दर्ज!
 
He did what he had to. I don't know what woke Dalits particularly, "bahujans" are doing beyond overusing his name and image for self promotion and gratification. Who says the loudest Jai bhim, who can duplicate his face better in arts, who speaks of Ambedkar the most. The man who
 
"मीडिया संस्थानों में कहा जाता है कि पत्रकार की कोई जाति नहीं होती ले​किन न्यूजरूम पहुंचने के साथ वह जाति दिखने लगती है.

अल्टरनेटिव मीडिया खुद को लिबरल-प्रोग्रेसिव कहता है लेकिन वहां भी दलित/आदिवासी को मौका नहीं मिलता! आखिर ऐसा क्यों है, कमी कहां है..?"
madeinmedia.in/why-indian-med…
 
"जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते, कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है, वो आप के किसी काम की नहीं। "

- डॉ. बाबा साहब भीमराव आंबेडकर (अप्रैल,14,1891-दिसम्बर,6,1956)
 
"I measure the progress of a community by the degree of progress which women have achieved."

- Dr. Baba Saheb Bhimrao Ambedkar

(April,14,1891-Dec,6,1956)
 
A very rare video of the funeral of Baba Saheb Bhim Rao Ambedkar

PM Nehru, President Rajendra Prasad, HM G. B. Pant & other ministers can be seen also thousands of people in funeral procession in Mumbai
#Ambedkar
 
"जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते, कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है, वो आप के किसी काम की नहीं। "

- डॉ. बाबा साहब भीमराव आंबेडकर (अप्रैल,14,1891-दिसम्बर,6,1956)
 
"I measure the progress of a community by the degree of progress which women have achieved."

- Dr. Baba Saheb Bhimrao Ambedkar (April,14,1891-Dec,6,1956)
 
Treat suicide as Medical Emergency. Please call @MoHFW_INDIA @TeleManas #14416 helpline for psychological help and Emergency support.
 
भारतीय मीडिया आदिवासियों, दलितों और पिछड़ों को क्यों समझती है मेरिटलेस: मीना कोटवाल
@KotwalMeena @The_Mooknayak @IIMC_India
#MadeInMedia #meenakotwal #themooknayak #tribal #indianmedia #Dalit #marginalized #reporting #Interview
madeinmedia.in/why-indian-med…
, : - Made In Media
madeinmedia.in
 
हमें सिर्फ राजनीतिक लोकतंत्र से संतुष्ट नहीं हो जाना चाहिए। हमें अपने राजनीतिक लोकतंत्र को सामाजिक लोकतंत्र भी बनाना है। राजनीतिक लोकतंत्र तब तक नहीं टिक सकता, जब तक कि उसका आधार सामाजिक लोकतंत्र ना हो।

- डॉ. आंबेडकर #महापरिनिर्वाण_दिवस
 
राजस्थानः कार्तिक भील को न्याय दिलाने के लिए दौसा में प्रदर्शन, बढ़ रहा आंदोलन का दायरा
@The_Mooknayak @KotwalMeena

रिपोर्ट : @mahir_mooknayak
themooknayak.in/rajasthan-demo…
, - The Mooknayak
themooknayak.in
 
क्या है आप की राय?👇

"दक्षिण अफ्रीका की तरह भारतीय क्रिकेट टीम में भी आरक्षण लागू होना चाहिए ताकि टीम बेहतर प्रदर्शन कर सके..."

- मशहूर कन्नड़ अभिनेता चेतन अहिम्सा

@ChetanAhimsa @BCCI @JayShah
 
मध्य प्रदेश: दलित समाज के लोग और पुलिस के बीच टकराव!

-ग्वालियर के भितरवार चरखा में प्रशासन द्वारा डॉ. अंबेडकर की मूर्ति हटाए जाने पर हुआ विवाद, हाल ही में स्थापित की गई थी मूर्ति।
 
 
ICU में पापा से कुछ देर के लिए मिलने की अनुमति मिली। परिवार में सभी पापा और रोहिणी की कुशलता के लिए चिंतित थे, इसीलिए ऑपरेशन के बाद पापा से मिलना बहुत ही भावुक करनेवाला पल था।
पापा ने रोहिणी के कुशलता के बारे में पूछा। फिर धीरे धीरे बोलते हुए पुरानी बातें याद करने लगे। pic.twitter.com/89u0nsdljW
 
#जयभीम चुनावों में सारा जोर हमारे मतों को जीतने पर ही होता है, लेकिन हमारी जिंदगी जब गटर में दम तोड़ती है तब नेताओं को दुख नहीं होता। हम लड़ेंगे और जीतेंगे यह लड़ाई, सीवर में हत्याओं के ख़िलाफ अभियान जारी#StopKillingUs #Action2022 कोच्चि, केरल
 
हम हमारे लिए बहुत सुकून देनेवाला क्षण था जब पापा से ICU में थोड़ी देर के लिए मिलने की इजाज़त मिली। पापा ने हाथ हिलाकर आप सब की शुभकामनाओं को वीडियो के माध्यम से स्वीकार किया और आभार व्यक्त किया। pic.twitter.com/3oIiVAWR3j
 
राजस्थानः कार्तिक भील को न्याय दिलाने के लिए दौसा में प्रदर्शन, बढ़ रहा आंदोलन का दायरा
@The_Mooknayak @KotwalMeena

रिपोर्ट : @mahir_mooknayak

themooknayak.in/rajasthan-demo…
 
उत्तर प्रदेशः पुलिस प्रताड़ना से बचने के लिए भागा किशोर मेमो ट्रेन की चपेट में आया, पैर कटे

रिपोर्ट : @Satyamooknayak

themooknayak.in/teen-memo-who-…
, - The Mooknayak
themooknayak.in
 
राजस्थानः कार्तिक भील को न्याय दिलाने के लिए दौसा में प्रदर्शन, बढ़ रहा आंदोलन का दायरा

रिपोर्ट : @mahir_mooknayak

themooknayak.in/rajasthan-demo…
, - The Mooknayak
themooknayak.in
 
राजस्थान के सिरोही में जातिवादी गुंडों ने दलित एक्टिविस्ट कार्तिक भील की ली जान

Report : @mahir_mooknayak

Watch : youtu.be/eRv11v3Tqm0
 
भोपाल गैस त्रासदी के बाद ‘डमी’ कंपनी बनाकर यूनियन कार्बाइड भारत में करती रही कारोबार!

themooknayak.in/despite-the-ba…
'' ! - The Mooknayak
themooknayak.in
 
क्या है आप की राय ?

दक्षिण अफ्रीका की तरह भारतीय क्रिकेट टीम में भी आरक्षण लागू होना चाहिए ताकि टीम बेहतर प्रदर्शन कर सके।

- मशहूर कन्नड़ अभिनेता चेतन अहिम्सा

@ChetanAhimsa
 
क्या है आप की राय?👇

"दक्षिण अफ्रीका की तरह भारतीय क्रिकेट टीम में भी आरक्षण लागू होना चाहिए ताकि टीम बेहतर प्रदर्शन कर सके..."

- मशहूर कन्नड़ अभिनेता चेतन अहिम्सा

@ChetanAhimsa @BCCI @JayShah
 
 
For access to this functionality a Trendsmap Explore subscription is required.

A Trendsmap Explore subscription provides full access to all available timeframes

Find out more

Thanks for trying our Trendsmap Pro demo.

For continued access, and to utliise the full functionality available, you'll need to subscribe to a Trendsmap Pro subscription.

Find out more

This account is already logged in to Trendsmap.
Your subscription allows access for one user. If you require access for more users, you can create additional subscriptions.
Please Contact us if you are interested in discussing discounts for 3+ users for your organisation, or have any other queries.