User Overview

Followers and Following

Followers
Following
Trendsmap

History

Total Followers - Last Year
Daily Follower Change - Last Year
Daily Tweets - Last Year

Tweet Stats

Analysed 3,063 tweets, tweets from the last 569 weeks.
Tweets Day of Week (UTC)
Tweets Hour of Day (UTC)
Key:
Tweets
Retweets
Quotes
Replies
Tweets Day and Hour Heatmap (UTC)

Tweets

Last 50 tweets from @varungandhi80
आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने का उत्सव हमने ’हर घर तिरंगा’ लगाकर मनाया, पर उत्सव की समाप्ति पर एक भी तिरंगा सड़क पर फेंका हुआ ना मिले यह भी हमारी जिम्मेदारी है।

जिस तिरंगे से हमारा मान, सम्मान और पहचान है उसकी गरिमा पर आँच ना आए।

हर राष्ट्रभक्त अपना कर्तव्य पूरी निष्ठा से निभाएँ।
 
जय हिंद, जय भारत 🇮🇳
 
घाटी में राहुल भट्ट जी की निर्मम हत्या के बाद से चल रहे कश्मीरी पंडितों के आंदोलन को अब 90 दिन बीत चुके हैं।

पंडितों की पीड़ा एवं वेदना समझे बिना उनकी माँगों को अनसुना कर उनका वेतन तक रोक दिया गया है।

क्या एक सुरक्षित एवं बेहतर जीवन की अपेक्षा हर भारतीय नागरिक का अधिकार नही है?
 
आजादी की 75वीं वर्षगाँठ का उत्सव गरीबों पर ही बोझ बन जाए तो दुर्भाग्यपूर्ण होगा।

राशनकार्ड धारकों को या तिरंगा खरीदने पर मजबूर किया जा रहा है या उसके बदले उनके हिस्से का राशन काटा जा रहा है।

हर भारतीय के हृदय में बसने वाले तिरंगे की कीमत गरीब का निवाला छीन कर वसूलना शर्मनाक है।
 
देश भर में प्रतियोगी छात्र लगातार संघर्षरत है!

लटकी हुई भर्तियाँ और अटका हुआ भविष्य, युवा जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय कभी आंदोलन तो कभी कोर्ट के चक्कर काट गंवा रहा है।

अब भी हम रोजगार सृजन को लेकर गम्भीर नहीं हुए तो युवाओं के साथ साथ राष्ट्र का भविष्य भी अंधकार में चला जाएगा।
 
As a first step in what I hope to be a transformational law, I introduced in Parliament The Bharatiya Rozgar Samhita Bill, 2022.

The Bill lays out modalities to fill ~20 lakh vacancies in record time (less than 100 days).

Copy of the Bill: bit.ly/3Sw0zBe
 
जो सदन गरीब को 5 किलो राशन दिए जाने पर ‘धन्यवाद’ की आकांक्षा रखता है।

वही सदन बताता है कि 5 वर्षों में भ्रष्ट धनपशुओं का 10 लाख करोड़ तक का लोन माफ हुआ है।

‘मुफ्त की रेवड़ी’ लेने वालों में मेहुल चोकसी और ऋषि अग्रवाल का नाम शीर्ष पर है।

सरकारी खजाने पर आखिर पहला हक किसका है?
 
नागपुर से दिल्ली पैदल मार्च कर रहे #SSCGD2018 अभ्यर्थियों से आज मिला।

कल हरियाणा में इनको डिटेन करके इनसे तिरंगे ज़ब्त किए गए थे।

आज मैंने इन्हें तिरंगा भेंट किया। इनकी आवाज को बल प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास का भरोसा दिया।

युवा ऊर्जा बनी रहे, देशप्रेम का जज़्बा कायम रहे!
 
श्री सुशील मोदी ने आज सदन में ‘मुफ्तखोरी की संस्कृति’ खत्म करने पर चर्चा का प्रस्ताव रखा है।

पर जनता को मिलने वाली राहत पर उँगली उठाने से पहले हमें अपने गिरेबाँ में जरूर झांक लेना चाहिए।

क्यूँ न चर्चा की शुरूआत सांसदों को मिलने वाली पेंशन समेत अन्य सभी सुविधाएँ खत्म करने से हो?
Monsoon session | BJP Rajya Sabha MP Sushil Kumar Modi gives zero-hour notice to 'curb the practice of freebies by political parties in the country.'
 
पिछले पांच सालों में 4.13 Cr लोग LPG की सिंगल रीफ़िल का खर्च नहीं उठा सके, जबकि 7.67 Cr ने इसे केवल एक बार रीफ़िल किया।

घरेलू गैस की बढ़ती कीमतें और नगण्य सब्सिडी के साथ गरीबों के 'उज्जवला के चूल्हे'
बुझ रहे हैं।

“स्वच्छ ईंधन, बेहतर जीवन” देने के वादे क्या ऐसे पूरे होंगे?
 
UP पुलिस, UPPCL, UPSSC, नलकूप आपरेटर, PET, UPTET, B.Ed, NEET, आदि परीक्षा में पेपर लीक का मामला सामने आने के बाद अब राजस्व लेखपाल की परीक्षा में नकल माफिया छाए रहे।

आखिर कबतक संगठित रूप से चलित शिक्षा माफिया युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करता रहेगा?

यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है!
 
Unemployment is the seminal issue of our times.

The Govt recently revealed in Parliament that since 2014, 22 crore people had applied for jobs & only 7.2 lakh were appointed.

My article on how the system continually diminishes the demographic dividend..
indianexpress.com/article/opinio…
 
कल बाड़मेर में हुई घटना से पूरा देश स्तब्ध व शोकाकुल है!

कुछ वर्षों से MiG-21 लगातार हादसों का शिकार हो रहा है। यह अकेला लगभग 200 पायलटों की जान ले चुका है।

आखिर यह ‘उड़ता ताबूत’ कब हमारे बेड़े से हटेगा?

देश की संसद को सोचना होगा, क्या हम अपने बच्चों को यह विमान उड़ाने देंगे?
 
ससंद में सरकार द्वारा दिए गए यह आँकड़े बेरोजगारी का आलम बयां कर रहे हैं।

विगत 8 वर्षों में 22 करोड़ युवाओं ने केंद्रीय विभागों में नौकरी के लिए आवेदन दिया जिसमें से मात्र 7 लाख को रोजगार मिल सका है।

जब देश में लगभग एक करोड़ स्वीकृत पद खाली हैं, तब इस स्थिति का जिम्मेदार कौन है?
 
किसानों को MSP की कानूनी गारंटी के लिए मैंने लोकसभा में निजी विधेयक रखा था।इसे निवर्तमान राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी ने सदन में बहस के लिए अनुशंसा दी। मैं उनका बहुत बहुत धन्यवाद करता हूं।किसानों के हित में इस विधेयक पर संसद में चर्चा होगी ऐसी आशा है। twitter.com/i/broadcasts/1…
 
गंगा हमारे लिए सिर्फ नदी नहीं, 'मां' है। करोड़ों देशवासियों के जीवन, धर्म और अस्तित्व का आधार है मां गंगा।

इसलिए नमामि गंगे पर 20,000 करोड़ का बजट बना। 11,000 करोड़ खर्च के बावजूद प्रदूषण क्यों?

गंगा तो जीवनदायिनी है, फिर गंदे पानी के कारण मछलियों की मौत क्यों? जवाबदेही किसकी?
 
आज हर सशक्त राष्ट्र की बुनियाद प्रतिभाशाली वैज्ञानिक हैं।

शिक्षा एवं शोध बजट को वरीयता न देने की वजह से पहले ही देश का बेस्ट टैलेंट् हमसे दूर जा चुका है।

और अब हम उनकी वापसी पर ‘उम्र की सीमा’ तय कर रहे हैं।

जिन्हें प्रोत्साहन चाहिए उनका मनोबल तोड़ भारत ‘विश्वगुरु’ कैसे बनेगा?
 
त्याग और समर्पण की अद्भुत दास्ताँ!

माँ का साया हटने पर पिता ने जिस बेटी का साथ छोड़ दिया उसने नाना-नानी के घर परिश्रम की पराकाष्ठा कर इतिहास रच दिया।

बिटिया का 10वी में 99.4% अंक लाना बताता है कि प्रतिभा अवसरों की मोहताज नहीं है।

मैं आपके किसी भी काम आ सकूँ, मेरा सौभाग्य होगा।
 
रेल किराए में वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाली छूट को खत्म करना दुर्भाग्यपूर्ण है।

जब सांसदों को रेल किराए में मिलने वाली सब्सिडी जारी है तब देश के बुजुर्गों को मिलने वाली राहत हमें ‘बोझ’ लगने लगी?

उम्र के आखिरी पड़ाव पर अपने लोगों का साथ छोड़ देना असंवेदनशीलता है।

पुनर्विचार हो।
 
जब घरेलू फ्लाइट्स की कीमतें लगभग दोगुनी हो चुकी हैं तब तकनीकी खराबी की वजह से देशभर में लगातार विमानों की आपातकाल लैंडिंग के समाचार मिल रहे हैं।

गत 2 महीनों में ही 17 उड़ानें प्रभावित हुई जो बेहद चिंताजनक है।

DGCA को सख्ती दिखानी होगी…क्या हम किसी बड़ी घटना के इंतजार में हैं?
 
Varun Gandhi Retweeted ·  
सरकार ने 2019 में 'PM-कुसुम' योजना शुरू की. इसमें सोलर एनर्जी पर काम होना है.

योजना का लक्ष्‍य है कि 2022 तक 10 हजार मेगावाट के पावर प्‍लांट लगेंगे.

जानते हैं फरवरी 2022 तक कितने मेगावाट के प्लांट लग पाए? सिर्फ '20 मेगावाट'.

मेरी रिपोर्ट
indiaspendhindi.com/top-stories/pm…
- ; 0%
indiaspendhindi.com
 
15 हजार करोड़ की लागत से बना एक्सप्रेसवे अगर बरसात के 5 दिन भी ना झेल सके तो उसकी गुणवत्ता पर गंभीर प्रश्न खड़े होते हैं।

इस प्रोजेक्ट के मुखिया, सम्बंधित इंजीनियर और जिम्मेदार कंपनियों को तत्काल तलब कर उनपर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करनी होगी।

#BundelkhandExpressway
 
कंधों पर सपनों का बस्ता लिए बच्चे पढ़ाई के लिए 26 km तक का सफर रोज़ कर रहे हैं।

बच्चों को साइकिल के लिए किए गए वायदे क्या फाइलों में फंस गए? ये देश का भविष्य हैं,इनके सपने पूरे करना हम सब का दायित्व है।

मैं 25 जरूरतमंद बच्चों को साइकिल उपलब्ध करा रहा हूँ।आशा है और लोग आगे आएंगे
मप्र के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले साढ़े पांच लाख बच्चों के स्कूल खुले महीनों हो गये लेकिन उन्हें साइकिल नहीं मिली है,कहीं सरकार साइकिल खरीदने वाउचर देने वाली थी लेकिन मामला अटका है,कई जिलों में कबाड़ में साइकिलें भी पड़ी हैं जो व्यवस्था के कबाड़ में तब्दील होने की गवाह हैं pic.twitter.com/9u7cybb80E
 
दूध, आटा, दाल, चावल आदि जैसी वस्तुओं पर GST लागू हो चुका है।

शराब, पेट्रोल और डीजल आदि पर नहीं..!

अगर इस टैक्स प्रणाली का सारा बोझ आम जनता ही वहन करेगी तो इसे लाने का मूल उद्देश्य ही पीछे छूट जाएगा।

केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर GST का एक जनहितकारी प्रारूप तैयार करना होगा।
 
खनन माफ़ियाओं ने जिस क्रूरता से एक ईमानदार पुलिस अधिकारी की हत्या की है, वो स्तब्ध कर देने वाली है।

किसके संरक्षण ने खनन माफियाओं को ऐसा करने की हिम्मत दी? किसके संरक्षण से अरावली क्षेत्र में अवैध खनन माननीय सुप्रीम कोर्ट के रोक के बावजूद बदस्तूर जारी है?

दोषियों को सज़ा कब?
हरियाणा के नूंह में बड़ी वारदात

खनन माफ़ियाओं ने तावडू DSP सुरेंद्र सिंह पर चढ़ाया डंपर, मौके पर हुई मौत. इसी साल रिटायर होने वाले थे सुरेंद्र सिंह. pic.twitter.com/cC3zwiWzO5
 
सेना में किसी भी तरह का कोई आरक्षण नहीं है पर अग्निपथ की भर्तियों में जाति प्रमाण पत्र मांगा जा रहा है।

क्या अब हम जाति देख कर किसी की राष्ट्रभक्ति तय करेंगे?

सेना की स्थापित परंपराओं को बदलने से हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा पर जो प्रभाव पड़ेगा उसके बारे में सरकार को सोचना चाहिए।
 
आपका अपने चाचा के प्रति स्नेह देख कर मन भावुक हो गया। उनके स्वास्थ्य की चिंता मुझे भी है। आप परेशान न हों।

मुसीबत में अपनों के काम आना ही हमारी भारतीय संस्कृति है। कृपया मुझे अपना भाई मानते हुए जानकारी सांझा करें।

आपके चाचा के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। 🙏
.@varungandhi80 जी मेरे चाचा जी की तबियत बहुत ज्यादा खराब है, डॉक्टरों ने हालत नाजुक बतायी है। चाचा अहमदाबाद में रहते हैं, और वहाँ उनके देखभाल करने वाला कोई नहीं है। मेरे परिवार के पास अहमदाबाद जाने तक के लिए भी पैसे नहीं है। मैं आपसे निवेदन करता हूँ कि कृपया मेरी मदद करें।
 
आज से दूध, दही, मक्खन, चावल, दाल, ब्रेड जैसे पैक्ड उत्पादों पर GST लागू है।

रिकार्डतोड़ बेरोजगारी के बीच लिया गया यह फैसला मध्यमवर्गीय परिवारों और विशेषकर किराए के मकानों में रहने वाले संघर्षरत युवाओं की जेबें और हल्की कर देगा।

जब ‘राहत’ देने का वक्त था, तब हम ‘आहत’ कर रहे हैं।
 
यूक्रेन से लौटे 14000 हजार छात्रों का स्वागत हमने कितने हर्ष से किया था।

इनके माता-पिता द्वारा सारी जमा-पूँजी लगा देने के बाद भी, आज इन छात्रों का भविष्य अधर में फँसा हुआ है।

न डिग्री, न कोई उम्मीद।

सरकार को इन छात्रों की सुध लेते हुए इनके भविष्य का रास्ता तय करने की जरूरत है।
 
नागपुर से दिल्ली, हाथों में तिरंगा। यह देश के युवा हैं, अधिकार माँग रहे हैं।

2018 से संघर्षरत इन युवाओं में से कितनों ने आत्महत्या कर ली, अब इन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है!

हमारे लोकतांत्रिक मूल्य कहाँ हैं?

हम अपने ही युवाओं के साथ इतना निष्ठुर व्यवहार कैसे कर सकते हैं?
 
वायु सेना में शामिल होने का सपना लिए पिछले 4 वर्षों से संघर्षरत युवाओं के दुःख-दर्द को क्यूँ अनसुना कर दिया गया है?

बेरोज़गारी से प्रभावित परिवार के दुखों की कल्पना ही भयावह है।

सेनाध्यक्ष तथा उच्च न्यायालय से आग्रह है कि युवाओं के हितों को ध्यान में रखकर निर्णय लिए जाएं।
 
लगातार गिर रहे रुपए के मूल्य से प्रभावित है हर भारतीय का जीवन और क्षीण है हमारा आत्मविश्वास।

सरहद पर राष्ट्र की रक्षा करने वाले सैनिकों की तरह RBI को रसातल में जाते रुपए को बचाने के लिए हर संभव कदम उठाने होंगे।

रुपया सिर्फ मुद्रा नहीं, राष्ट्र का आत्मसम्मान है!

हमारी पहचान है!
 
इन परिश्रमी बहनों ने अपने माता-पिता खोने के बावजूद हिम्मत से अपनी लड़ाई लड़ी है।

मैं खुशनसीब हूँ कि इस संघर्षयात्रा में इनके काम आ सका।

ऐसे ही यह अपने लक्ष्य की ओर बढ़ती रहें, और अन्य युवा बहनों के लिए प्रेरणास्रोत बनें। 🙏
सर, आपकी मदद इन दोनों बहनों तक पहुंच गई है। उन्होंने आपको धन्यवाद भेजा है। आपका बहुत-बहुत शुक्रिया..🙏 @varungandhi80 pic.twitter.com/kZUS7Aj5LQ
 
इनके संघर्ष को मेरा सलाम।

ऐसी होनहार, उच्च डिग्रीधारक, युवा महिलाओं का नौकरी के लिए कठोर संघर्ष रोजगार पर सरकार की नीतियों के लिए एक बड़ा प्रश्न है।

बड़े भाई के रहते इन्हें परेशान होने की जरुरत नहीं है।

आप नि:संकोच इनकी जानकारी साझा करें।
In reply to @gauravgulmohar
दूसरी बहन पल्लवी भी सरकारी नौकरी की तैयारी कर रही हैं। UPTET/CTET उत्तीर्ण कर चुकी पल्लवी अब सुपर टेट की तैयारी में जुटी हैं इन्हे भी कोचिंग की आवश्यकता है। आवश्यकता- अच्छी कोचिंग और रहने की व्यवस्था (इलाहाबाद/लखनऊ) @varungandhi80 जी कृपया इन बहनों तक मदद पहुंचाने की कृपा करें
 
आंकड़ें जो डराते हैं:

देश में बेरोजगारी दर - 7.80%
हरियाणा - 30.6%
राजस्थान - 29.8%
असम -17.2%
जम्मू-कश्मीर -17.2%
बिहार -14%

1.3 करोड़ लोगों की नौकरियां गई।

करोड़ों खेतिहर मजदूरों और श्रमिकों के पास कोई रोजगार नहीं।

क्या इन आंकड़ों के साथ हम देश के विकास की गाथा लिखेंगे?
 
मानसून पिछड़ने से खेतों से रौनक और चेहरों से मुस्कुराहट गायब है।

खेतों में नमी की कमी से खरीफ फसलों की बुआई बुरी तरह प्रभावित है।

जल संरक्षण कैसे हो, सिंचाई व्यवस्था सुदृढ़ कैसे हो और बीज बोने का सही समय क्या हो इसपर योजनाबद्ध तरीके से काम करना होगा।

अन्नदाता का दर्द समझिए।
 
बड़े भाई के नाते मेरी छोटी सी कोशिश।

झारखण्ड के गांव की मेरी एक छोटी बहन जब नेशनल रिकॉर्ड तोड़ती है तो उस रिकॉर्ड के साथ वो समाज की अनेक बाधाओं को भी तोड़ती हैं।

आप पूरे देश के लिए मिसाल हैं।

उम्मीद है कि आपको देखकर और भी बहनें आगे आएँगी और देश का नाम रौशन करेंगी। 🙏
In reply to @varungandhi80
@varungandhi80 आदरणीय वरुण गांधी सर।आपके द्वारा सुप्रीति कच्छप को प्राप्त सहयोग के लिए कोटि कोटि सादर आभार।आपने एक सपने को उड़ान भरने में जो सहयोग किया है इसके लिए हम आपके सामने नतमस्तक है और भरोसा दिलाता हूं सुप्रीति आपके उम्मीदों पर खरा उतरेगी। पुनः आपको सादर प्रणाम pic.twitter.com/Q192IaV7oB
 
श्री अमरनाथ यात्रा में फंसे श्रद्धालुओं की सुरक्षा में सेना की चिनार कोर रात भर बिना रुके काम करती रही।

बेहद कम समय में 15000 से अधिक लोगों को रेस्क्यू किया गया।

जो दूसरों की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल दे वह भगवान का ही रूप है।

महादेव आप सभी की रक्षा करें। 🙏
 
चूल्हे पर लकड़ियाँ जल रही हैं और लाल सिलेंडर सजावट की वस्तु बना हुआ है,

गैस की पासबुक के पन्नों में महीनों से कोई एंट्री नहीं चढ़ी है,

ये उन लाखों महिलाओं का दर्द है जिन्हें हमने ‘धुएँ से आज़ादी’ का सपना दिखाया था।

यह वही महिलाएँ हैं जिन्होंने हम पर सबसे अधिक भरोसा जताया था।
 
आपका सपना पूरे देश का सपना है। आपकी उड़ान को पंख जरूर लगेंगे, ये मेरा वादा है।

छोटी बहन के सपनों को पूरा करना सभी भाइयों का दायित्व है।

हमें यकीन है कि आप देश के लिए मेडल भी जीतेंगी।
#KheloIndiaYouthGames में इस साल कुल 12 रिकॉर्ड्स टूटे हैं. इसमें 11 रिकॉर्ड महिला खिलाड़ियों ने तोड़े. इस 11 में एक खिलाड़ी झारखंड की #SupritiKacchap हैं. . लेकिन अब उनके पास बेहतर जूते भी नहीं है. क्विंट के लिए @DuttaAnand की रिपोर्ट. pic.twitter.com/qqfoGT06UB
 
स्टार्टअप्स भारत में संघर्ष कर रहे है!

6 महीनों में 11000 युवाओं ने नौकरियाँ खोयी हैं, साल खत्म होते-होते यह आँकड़ा 60000 पार कर सकता है।

यूनिकॉर्न कंपनियों का मानना है कि अगले 2 वर्ष चुनौतीपूर्ण हैं।

युवाओं की ऊर्जा को सही दिशा और वित्तीय नीतियों में सुधार आज वक्त की माँग है।
 
घरेलू सिलेंडर अब 1050 रु में मिलेगा!

जब देश में बेरोजगारी चरम पर है तब भारतवासी पूरी दुनिया में सबसे महँगी LPG खरीद रहे हैं।

कनेक्शन कॉस्ट 1450 रु से बढ़ाकर 2200 रु, सिक्योरिटी 2900 से बढ़ाकर 4400, यहाँ तक की रेगुलेटर तक 100 रु महँगा है।

गरीब की रसोई फिर धुएँ से भरने लगी है।
 
महज 4 घंटे की नींद, दो-दो शिफ्ट, विषम परिस्थितियों में ड्यूटी और सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं।

यह कहानी है देश के बॉर्डर की सुरक्षा करने वाले BSF के जवानों की।

20 से 22 हजार पद खाली, 20 सालों में प्रमोशन।

पिछले दस सालों में 1205 जवानों ने ली अपनी जान। फिर भी मेरा देश महान।
अपने ही साथियों को गोली क्यों मार रहे BSF जवान: जरा सी चूक पर कड़ी सजा, 24 घंटे में दो शिफ्ट, प्रमोशन में 20 साल लग जाते हैं
#BSF @BSF_India By: @akshayvajpaye @shhruti3
dainik-b.in/mQZcNyQXorb pic.twitter.com/rk2lVhkekb
 
रितु,

आपके जैसे युवा ही राष्ट्र के लिए मिसाल बनते हैं। मुझे आप पर गर्व है।

आप बिना रुके, बिना थके अपने लक्ष्य को प्राप्त करें। मेरा सहयोग आप तक जल्द पहुँचेगा।
#Fundraising This girl's name is Ritu, who comes from a very poor Dalit family, father is suffering from serious illness, he is unable to study it further, this girl has passed 10th from govt school, & wants to study further. She needs financial support.......

Details in Thread pic.twitter.com/p1lvqcG9ne
 
आंकड़े झूठ नहीं बोलते!

देश की बेरोजगारी दर 7.8%, हरियाणा की बेरोजगारी दर 30.6%, 19 साल का हर दूसरा युवा बेरोजगार। प्रदेश में शिक्षकों के 50 हजार पद खाली।

अग्निवीर युवा 4 वर्षों के बाद बेरोजगारी के इन्हीं आंकड़ों का हिस्सा बन जाएँगे।

युवा बेरोजगारी के आंकड़ें या देश का भविष्य?
 
लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी सभी अधिकारों की जननी है।

विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा अपने आलोचकों पर किए जा रहे मुकदमे चिंता का विषय हैं।

जिस पुलिस को लाठियाँ चलाते देख आज आप आनंदित होते हैं, निज़ाम बदलते ही वो लाठियाँ आपकी तरफ भी घूम सकती हैं।

याद रहे ‘संविधान सर्वोपरि’ है।
 
संघर्ष की भी सीमा होती है।
अभ्यर्थियों की मार्मिक पुकार सुनिए। नौकरी के लिए संघर्ष का एक वर्ष इनके लिए एक दशक से कम नहीं। अगर चयन प्रक्रिया में धांधली हुई तो उसे सुधार कर योग्य अभ्यर्थियों को नौकरी देने में देर क्यों? रिक्त पदों पर खर्च होते बजट, बेरोजगार युवा सड़क पर।आखिर कब तक?
#6800_शिक्षकों_को_नियुक्ति_दो
माननीय वरुण गांधी जी जिस तरह से आप युवाओं, मजलूमों की आवाज बन रहे हैं हम उम्मीद करते हैं कि हमारे संघर्ष को भी आप संज्ञान में लेंगे! पिछले 1 साल से हम संघर्ष कर रहे हैं इको गार्डन में हमे न्याय कब मिलेगा? संघर्ष लगातार जारी है🙏
@varungandhi80 pic.twitter.com/oTU6sMwX2D
 
800 आवश्यक एवं आम उपयोग वाली दवाइयों के दामों में वृद्धि के बाद अब अस्पतालों में इलाज भी महँगा हुआ।

रोटी महँगी, कपड़ा महँगा, मकान महँगा और अब इलाज महँगा हुआ।

स्वास्थ्य और शिक्षा तो बुनियादी आवश्यकता हैं। महंगाई के बोझ तले दबे आम आदमी को राहत कब मिलेगी?

आत्ममंथन की जरूरत है!
 
स्थायी नौकरियों के स्थान पर अस्थाई नौकरियों का चलन, आर्थिक मोर्चे पर हमारी नाकामी की दास्ताँ है।

छंटनी में बेरोजगार हुए लोगों के बारे में कल्पना कीजिए। माता-पिता का इलाज, घर की EMI, बच्चों की फीस... उनका जीवन एक झटके में बर्बाद कर दिया गया है।
 
भारत में बेरोजगारी के कारण युवाओं की आत्महत्या एक भयावह रूप लेती जा रही है।

सरकार का कर्तव्य हैं कि देश के युवाओं को स्थायित्व प्रदान करें और जल्द से जल्द रिक्त पदों को भर कर देश के युवाओं की मुश्किलें कम करें।

संविदा की संस्कृति को खत्म करना सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए।
 
 
Free access is provided to the 8 hour timeframe for this page.

A Trendsmap Explore subscription provides full access to all available timeframes

Find out more

This account is already logged in to Trendsmap.
Your subscription allows access for one user. If you require access for more users, you can create additional subscriptions.
Please Contact us if you are interested in discussing discounts for 3+ users for your organisation, or have any other queries.